Thursday, December 31, 2015

नव वर्ष की शुभ कामनाएँ एवं ''अतीत का गर्व '' नामक मुक्तक , कवि स्व. श्री श्रीकृष्ण शर्मा के नवगीत संग्रह - '' चाँद झील में '' से लिया गया है -





''अतीत का गर्व '' नामक मुक्तक , कवि स्व. श्री श्रीकृष्ण शर्मा के नवगीत संग्रह - चाँद झील में '' से लिया गया है -




कृपया इसे पढ़ कर अपने विचार अवश्य लिखें | आपके विचारों का स्वागत है | धन्यवाद |

-----------------------------------------
सुनील कुमार शर्मा  
पुत्र –  स्व. श्री श्रीकृष्ण शर्मा ,
जवाहर नवोदय विद्यालय ,
पचपहाड़ , जिला – झालावाड़ , राजस्थान .
पिन कोड – 326512
फोन नम्बर - 9414771867

5 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (02-01-2016) को "2016 की मेरी पहली चर्चा" (चर्चा अंक-2209) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    नववर्ष 2016 की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद मयंक जी |

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति ..
    आपको भी सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  4. कविता जी आपको भी नव वर्ष की बहुत - बहुत शुभ कामनाएँ | आपने मुक्तक पसंद किया इसके लिए धन्यवाद |

    ReplyDelete
  5. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete